ELECTRO TRIDOSHA GRAPHY ; ETG AyurvedaScan ; इलेक्‍ट्रो-त्रिदोष-ग्राफ ; ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन

इपीगैस्ट्रियम की बीमारी “इपीगैस्ट्राइटिस” में आयुर्वेद के सिध्धान्त “त्रिदोष” के “वात, पित्त, कफ” की शरीर में उपस्तिथि का मूल्यान्कन : ई०टी०जी० तकनीक से प्राप्त आन्कड़ों का विश्लेषण ; Evaluation of Ayurveda Principals “Vat, Pitaa, Kaphha” in disease condition of “Epigastritis” ; an overview study from ETG technology obtained Data

Posted on: नवम्बर 17, 2018

****आयुर्वेद : आयुष**** ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन ****AYURVEDA : E.T.G. AyurvedaScan **** ****आयुष आविष्कार**** ई० एच० जी० ****होम्योपैथीस्कैन **** E.H.G. Homoeopathy Scan

बड़ी सन्ख्या मे एकत्र ई०टी०जी० रिपोर्ट्स मे निदान किये गये और तदनुसार इन रिपोर्ट्स पर आधारित होकर रोगियों की चिकित्सा करके उनको शीघ्र आरोग्य करने के पश्चात, “इपीगैस्ट्राइटिस” के रोगियों के इस अध्ध्यन का उद्देश्य आयुर्वेद के चिकित्सकों के इस ओर ध्यान दिलाने का है कि वे किस प्रकार निदान कार्य में फेल हो रहे हैं और मरीजों के जी जान से खिलवाड़ कर रहे हैं ? आयुर्बेदग्यों के इस कार्य से न केवल आयुर्वेद चिकित्सकों की उतकृस्टता पर सवाल उठते हैं बल्कि उनके असफ़ल होने पर आयुर्वेद की बदनामी भी होती है ।

मैने और हकीम मोहम्मद शरीफ अन्सारी जी ने Abdomen के नौ हिस्से में से एक हिस्से Epigastrium का evaluation ETG technology द्वारा जान्च करके तदनुसार प्राप्त किये गये डाटा से यह जान लेने की कोशिश की कि [१] आयुर्वेद के मौलिक सिद्धान्त त्रिदोष यथा वात, पित्त, कफ की क्या अवस्था मरीजों में पायी गयी ? तथा…

View original post 268 और  शब्द

Advertisements

एक उत्तर दें

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

Thanks for your visit

  • 30,486 hits

ETG WORLDWIDE

free counters

About me

Today’s Date

नवम्बर 2018
सोम मंगल बुध गुरु शुक्र शनि रवि
« फरवरी    
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627282930  
Advertisements
%d bloggers like this: