ELECTRO TRIDOSHA GRAPHY ; ETG AyurvedaScan ; इलेक्‍ट्रो-त्रिदोष-ग्राफ ; ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन

इलेक्‍ट्रो-त्रिदोष-ग्राफ {ई0 टी0 जी0} रिपोर्ट

Posted on: सितम्बर 11, 2007

                          

 

आजकल के समय में आधुनिक चिकित्‍सा विज्ञान की निदान विधियों द्बारा ही शरीर में व्‍याप्‍त बीमारियों का निदान ज्ञान प्राप्‍त करनें की परीक्षण विधियां प्रचिलित हैं।

 

आयुर्वेद के लगभग 5000 वर्ष  के इतिहास काल में यह पहली साक्ष्‍य आधारित अकेली परीक्षण विधि है जिसका आविष्‍कार वर्तमान काल के हुआ

       

{यह ई0टी0जी0 रिपोर्ट  है । चूंकि यह विश्‍व का प्रथम आयुर्वेदिक परीक्षण है अत: सभी चिकित्‍सक बन्‍धुओं को यह समझ में आ जाना चाहिये कि वे जिस रिपोर्ट को देख रहे हैं , वह आयुर्वेद और आधुनिक चिकित्‍सा विज्ञान दोंनों के दृष्टि कोणों को प्रतिबिम्बित कर रहा है । यह आर्युस्‍कैन की अलग पहचान के लिये बहुत जरूरी है ।  

 

एक उत्तर दें

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

Thanks for your visit

  • 26,831 hits

ETG WORLDWIDE

free counters

About me

Today’s Date

सितम्बर 2007
सोम मंगल बुध गुरु शुक्र शनि रवि
« जनवरी   नवम्बर »
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930

हाल के पोस्ट

%d bloggers like this: